Menu

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive
 

As per my highest conceptual inkling the word “Acting” means an absolute enactment to decipher a specific story, where both Actors and Actress do embrace a character. It establishes a person through an unprecedented understanding in a befitting manner.


Sri Badal kanjilal is one of the exemplary personalities in India to research upon “Drama and Direction”, which gives him an inordinate satisfaction not only to enrich his contemplative practice but to prepare his sublime students for achieving this great artistic resplendence within a short while.
He has constructed this noble occupational platform through his brilliant devotional intellect and on the other hand his phenomenal participations already.
In this regard I wish him to discover this surprising world through all of his infinite hopes of creation and I am sincerely praying him to restyle the best boulevard of acting. It shall be really marvelous to execute his heart-warming expressive dexterity for this entire universe along with his promising followers. So that, it shall undoubtedly be engaging for all of us to initiate an awesome “Cultural Synthesis” for the discerning majesty of tomorrow.

योगी आदित्यनाथ जी हकीकत देखिए !

ऑडियो विज्युअल मीडिया ऐसा खिलाड़ी है कि डिटर्जेंट जैसे प्रकृति के दुश्मन जहर को ‘दूध सी सफेदी’ का लालच दिखाकर और शीतल पेय ‘कोला’ जैसे जहर को अमृत बताकर घर-घर बेचता है, पर इनसे सेहत पर पड़ने वाले नुकसान की बात तक नही करता । यही हाल सत्तानशीं होने वाले पीएम या सीएम का भी होता है ।

Read more ...
 

तुम्हारा वह अंदाज़ याद रहेगा, ठाकुर !

हिन्दी सिनेमा के सौ साल से ज्यादा लम्बे इतिहास में जिन अभिनेताओं ने अभिनय को नए आयाम दिए और नई परिभाषाएं गढ़ी, उनमें स्वर्गीय संजीव कुमार उर्फ़ हरिभाई जरीवाला एक प्रमुख नाम है। अपने भावप्रवण चेहरे, विलक्षण संवाद-शैली और अभिनय में विविधता के लिए विख्यात संजीव कुमार एक बेहतरीन अभिनेता ही नहीं, अभिनय के एक स्कूल माने जाते हैं।

Read more ...
 

मोदी की इजराइल यात्रा के निहितार्थ !

फिलिस्तीन और इजरायल के बीच तनाव और संघर्ष के कई दौर मानव इतिहास की सबसे बड़ी त्रासदियों में एक है। उनकी लड़ाई में हज़ारों लोग मारे जा चुके हैं जिनमें ज्यादातर बेगुनाह नागरिक और मासूम बच्चे शामिल हैं। मसला दोनों के अस्तित्व से ज्यादा ऐतिहासिक वजहों से उनके बीच सदियों से पल रही बेपनाह नफरत का है।

Read more ...
 
Go to top