Menu

Don't Miss

 "The good news is that economists are intelligent, engaging and often charming folks. The bad news is their work is often of little use to investors". - Barry Ritholtz

 

 

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

जिस ईश्वर और जिन देवी-देवताओं को हमने कभी देखा-जाना नहीं हैं, उनके पीछे हम सब पागल है। उन काल्पनिक हस्तियों के मंदिरों, इबादतगाहों और स्तुतियों ने हमारे जीवन का ज्यादातर हिस्सा घेर रखा है। जो जीवित देवी-देवता हमारी आंखों के सामने अनंत काल से हमारे लिए सब कुछ लुटाते रहे हैं, यदि हमने उनकी भी इतनी ही चिंता की होती तो हमारी यह दुनिया आज स्वर्ग से भी सुन्दर होती।

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

पंजाब नेशनल बैंक ही नहीं, अभी और भी कई बैंक इसकी चपेट में आने वाले हैं। उल्लेखनीय है कि पिछले हफ्ते के 3 बड़े घोटालों के बीच एक व्यक्ति का नाम हर जगह उभर कर आ रहा है और वो है जैट ऐयरवेज़ के मालिक नरेश गोयल का। जैट ऐयरवेज़ की हवाई उड़ानों पर नीरव मोदी के विज्ञापन अभी तक प्रसारित हो रहे हैं। इन दोनों कंपनियों के बीच आर्थिक लेनदेन का जो कारोबार चल रहा है,

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

जब से अमरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प ने पाकिस्तान की तरफ से हाथ खींचा है, तब से पाकिस्तान में हताशा का माहौल है। उधर अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पाकिस्तान की छवि आतंकवाद को संरक्षण देने वाले और अल्पसंख्यकों के मानवाधिकारों का हनन करने वाले देश के रूप में बन चुकी है। ऐसे में पाकिस्तान की सरकार और उसका मीडिया तमाम कोशिशे करके अपनी छवि सुधारने में जुटा है।

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

हमेशा की तरह 'महिला दिवस' की आहट के साथ एक बार फिर स्त्री-शक्ति की स्तुतियों का सिलसिला शुरू हो गया है। हर तरफ भाषण-प्रवचन हैं,यशोगान हैं, कविताई हैं, संकल्प हैं, बड़ी-बड़ी बातें हैं। आप स्त्रियां मानें या न मानें, यह सब आपको बेवकूफ़ बनाने के सदियों पुराने नुस्खे है। आपने अपनी छवि ऐसी बना रखी हैं कि कोई भी आपकी प्रशंसा कर आपको अपने सांचे में ढाल ले जा सकता है।

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

इस देश की सरकार और प्रधानमंत्री की नीतियों से हमारी असहमति अपनी जगह पर सही है, लेकिन कल लोकतंत्र के मंदिर संसद में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर प्रधानमंत्री के वक्तव्य के दौरान कांग्रेस सांसद रेणुका चौधरी का बेहूदा अट्टहास बेहद शर्मनाक था। उससे ज्यादा शर्मनाक था देश के प्रधानमंत्री का उनकी हंसी की तुलना रामायण सीरियल के किसी राक्षस से करना.!

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

*सुप्रीम कोर्टके चारो वरिष्ठ जजोंका ऐतिहासिक कदम उठानेके लिए अभिनंदन !! हिटलर सरकार और देशद्रोही नोकरशाहोंसे लोकतंत्र खतरे मै*

- CBI जज लोया की केस सुप्रीम कोर्टके १० नंबरके बेंचको सौपी है CJI मिश्राजी ने. कुल १२ बेंचेस है और श्रेष्ठता के अनुसार इतनी संवेदनशील और गंभीर केस CJ को खुद या फिर दो नंबर की बेंच को सौपनी चाहिये थी. मगर "मिश्रा" जी ने यह केस १० नंबर की ज्युनिअर बेंच *अरुण मिश्रा* के पास क्यु दी ? जनताको इसकी सच्चाई और इसके पिछेका षडयंत्र जानके का पूरा हक है.

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

मेरी चंदन की लकड़ियों, तेरी शीतलता, गंध और पवित्रता की क़द्र इस देश में कभी भी नहीं हुई। कभी ढोंगी बाबाओं ने तुझे इस्तेमाल किया तो कभी वीरप्पन जैसे तस्करों ने तुझे लूटा। यहां के जंगलों में भी तुझे अपना प्यार कहां मिला ? प्यार के नाम पर सदियों से छोटे-मोटे भुजंग ही लिपटते-चिपटते रहे तुझसे। तू इससे कुछ ज्यादा की हकदार थी। चल छोड़ आता हूं तुझे चीन की सीमा के उस पार !

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

इतने शोर शराबे के बाद पद्मावत फिल्म देखी, तो तबियत बाग-बाग हो गई। राजपूतों की संस्कृति, उनके संस्कार, उनका वैभव, उनके सिद्धांत, उनकी मान-मर्यादा, हर बात का इतना भव्य प्रर्दशन संजय लीला भंसाली ने किया है कि देखने वाला देखता ही रह जाता है। समझ में नहीं आता कि किन लोगों की मूर्खता के कारण इस पर इतना बवाल मचा।

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

उर्दू के एक बेहतरीन शायर अनवर जलालपुरी का कल सत्तर साल की उम्र में ब्रेन हैमरेज से निधन की ख़बर अदब के चाहने वालों के लिए एक सदमे जैसा है। अपनी नाज़ुकख्याली, सघन संवेदना और मखमली आवाज़ से पिछले चार दशकों से लोगों के दिल पर राज करने वाले अनवर जलालपुरी मंचीय मुशायरों की सबसे अज़ीम शख्सियतों में एक रहे थे।

Go to top